दालों की रानी किसे कहते है? (Dalo Ki Rani Kise Kahate Hain)

क्या आप जानते है कि दालों की रानी किसे कहते है? (Dalo Ki Rani Kise Kahate Hain) यदि हाँ तो आपको इस पोस्ट में दालों की रानी के बारे में विस्तार से जानकारी मिलने वाली है |

आपको यह भी पता होना चाहिए कि दालों का राजा किसे कहते है? इस पोस्ट में केवल दालों की रानी के बारे में ही बताया गया है |

किसी भी दाल को दालों की रानी कहने की क्या-क्या वजह होती है, इसके बारे में आपको यहाँ जानकारी मिलने वाली है |

Dalo ki rani kise kahate hain

दालों की रानी किसे कहते है? (Dalo Ki Rani Kise Kahate Hain)

मूंग की दाल, अरहर की दाल, मसूर की दाल, चने की दाल, राजमा की दाल आदि कई प्रकार की दालें आपने खाई होगी | इनमें से मूंग की दाल को दालों का रानी कहते है |

मूंग का वैज्ञानिक नाम विग्ना रेडियाटा (Vigna Radiata) होता है |

मूंग की दाल में पोषक तत्वो की प्रचुर मात्रा होती है जिनमें से केल्शियम, आयरन, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेड, विटामिन मुख्य है |

जब मूंग की दाल अंकुरित होती है तो इसमें पाये जाने वाले पोशाक तत्वों की मात्रा लगभग दोगुनी हो जाती है इसलिए कहा जाता है कि अंकुरित मूंग की दाल खाना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होती है |

भारत में मूंग की दाल का हलवा फेमस है |

मूंग की दाल के प्रकार

मूंग जिसे दालों की रानी भी कहा जाता है, तीन प्रकार की होती है –

  1. सबूत मूंग की दाल
  2. छिलके वाली मूंग की दाल
  3. धुली हुई मूंग की दाल

यह भी पढे- दालों का राजा किसे कहते है?

मूंग की दाल खाने के फायदे

दालों की रानी मूंग की दाल को खाने के निम्नलिखित फायदे है –

  • मूंग की दाल पाचन की क्रिया को बढ़िया बनाने का काम करती है |
  • कब्ज होने पर मूंग की दाल खाना फायदेमंद होता है |
  • सामान्य बुखार में भी मूंग की दाल खाने से फायदा होता है |
  • पेट में गैस की समस्या को मूंग की दाल दुरस्त करती है |
  • गर्मी के मौसम में मूंग की दाल खाने से पेट की गर्मी से राहत मिलती है |
  • मूंग की दाल को शरीर में बल्ड शुगर के लेवल को सभी बनाये रखने का कारगर उपाय बताया गया है |
  • शरीर की इम्यूनिटी (रोग प्रतिरोधक क्षमता) को बढ़ाने में मूंग की दाल काफी फायदेमंद होती है |
  • मूंग की दाल का पानी पीने से शरीर के अंदर का टॉक्सिन धीरे-धीरे शरीर से बाहर निकल जाता है |
  • शरीर के वजन को कंट्रोल करने में मूंग की दाल अच्छी मानी जाती है |
  • मूंग की दाल को पानी में भिगोकर रखने के बाद अगले दिन इसे खाने से भरपुर एनर्जी मिलती है |
  • मूंग की दाल आसानी से पच जाती है इसलिए रोगियों को मूंग की दाल खाने की सलाह दी जाती है |

दालों की रानी के बारे में पूछे जाने वाले प्रश्न

दालों की रानी किस दाल को कहा जाता है?

मूंग की दाल को दालों की रानी कहा जाता है |

दालों की रानी कौन है?

दालों की रानी मूंग की दाल को कहते है |

मूंग की दाल गर्म होगी है या ठंडी?

ठंडी |

मूंग की दाल को दालों की रानी क्यों कहा जाता है?

मूंग एक अल्कलाइन (क्षारीय) फूड होता है तथा मूंग की दाल को खाने से शरीर को नुकसान नहीं होता है | इसलिए मूंग की दाल को दालों की रानी कहा जाता है | 

अंतिम दो लाइन

आपने इस पोस्ट को पढ़कर जाना कि आखिर दालों की रानी किसे कहते है? (Dalo Ki Rani Kise Kahate Hain)

मैंने यहाँ पर दालों की रानी मूंग की दाल के बारें में विस्तार से बताया है |

साथ ही मूंग की दाल खाने के फायदे की बताए है | यह पोस्ट आपको जरूर पसंद आयी होगी |

Leave a Comment