लेंस किसे कहते है? (Lens Kise Kahate Hain) लेंस के प्रकार व उदाहरण

क्या आप लेंस के बारे में जानना चाहते है यदि हाँ तो आपको इसके पोस्ट में लेंस क्या है, लेंस किसे कहते है? (Lens Kise Kahate Hain), लेंस कितने प्रकार के होते है आदि के बारे में विस्तार से जानने को मिलने वाला है |

लेंस की क्षमता, लेंस के उपयोग, लेंस का सूत्र तथा लेंस से संबन्धित परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्न व उत्तर भी इस पोस्ट में दिये गए है |

Lens Kise Kahate Hain

लेंस किसे कहते हैं? (Lens Kise Kahate Hain)

आपने नजर का चश्मा देखा होगा | नजर के चश्में में जो काँच लगे होते है वो लेंस ही होते है |

लेंस की परिभाषा- दो पृष्ठों से घिरा हुआ गोलीय पारदर्शी माध्यम लेंस कहलाता है | लेंस के दोनों पृष्ठों में से एक पृष्ठ गोलीय होता है तथा दूसरा पृष्ठ गोलीय या समतल होता है |

लेंस प्रकाश के अपवर्तन के सिद्धान्त पर काम करता है |

लेंस के प्रकार

लेंस की क्षमता

लेंस की क्षमता का मात्रक

लेंस सूत्र :- प्रकाशिक केंद्र से बिम्ब की दूरी (u), मुख्य फोकस (f) तथा प्रकाशिक केंद्र से प्रतिबिम्ब की दूरी (v) के बीच संबंध को इस प्रकार से दर्शाया जाता है:

                              1/v-1/u=1/f

जहाँ, u = बिम्ब की प्रकाशिक केंद्र से दूरी [इसे बिम्ब दूरी कहते हैं।

v = प्रतिबिम्ब प्रकाशिक केंद्र से की दूरी [इसे प्रतिबिम्ब दूरी कहते हैं।

f = मुख्य फोकस की प्रकाशिक केंद्र से दूरी

बिम्ब दूरी (u), प्रतिबिम्ब दूरी (v) तथा फोकस दूरी (f) के बीच इस संबंध को लेंस सूत्र कहा जाता है।

इस प्रकार का सभी प्रकार के लेंस के लिये बिम्ब की सभी स्थितियों के लिये मान्य है।

लेंस के प्रकार

लेंस दो प्रकार के होते है-

  1. उत्तल लेंस (Convex lens)
  2. अवतल लेंस (Concave Lens)

01. उत्तल लेंस किसे कहते है? Uttal lens kise kahate hain)

उत्तल लेंस की परिभाषा- वह लेंस जो किनारों से पतला व बीच में से मोटा होता है उसे उत्तल लेंस (Convex lens) कहते है |

उत्तल लेंस किरणों को अभिसारित करता है इसलिए इसे अभिसारी लेंस भी कहा जाता है |

उत्तल लेंस की फोकस दूरी धनात्मक होती है |

उत्तल लेंस का प्रयोग दूर दृष्टि दोष के निवारण के रूप मे प्रयोग किया जाता है |

उत्तल लेंस तीन प्रकार का होता है-

  1. उभयोत्तल लेंस
  2. समतलोत्तल लेंस
  3. अवतलोत्तल लेंस

उभयोत्तल लेंस के दोनों पृष्ठ उत्तल होते है | समतलोत्तल लेंस का एक पृष्ठ समतल होता है तथा दूसरा पृष्ठ उत्तल होता है | अवतलोत्तल लेंस का एक पृष्ठ अवतल तथा दूसरा पृष्ठ उत्तल होता है |

यह भी पढे- वोल्टेज किसे कहते हैं?

02. अवतल लेंस किसे कहते हैं? (Avtal lens kise kahate hain)

वह लेंस जो किनारों से मोटा तथा बीच में से पतला होता है उसे अवतल लेंस (Concave lens) कहते है |

अवतल लेंस प्रकाश की किरणों को अवसारित करता है इसलिए अवतल लेंस को अपसारी लेंस भी कहा जाता है |

अवतल लेंस की फोकस दूरी ऋणात्मक होती है |

अवतल लेंस का उपयोग निकट दृष्टि दोष के निवारण के लिए प्रयोग में लिया जाता है |

अवतल लेंस तीन प्रकार का होता है-

  1. उभयावत्तल लेंस
  2. समतलावत्तल लेंस
  3. उत्तलावतल लेंस

उभयावत्तल लेंस के दोनों पृष्ठ अवतल होते है | समतलावत्तल लेंस का एक पृष्ठ समतल होता है तथा दूसरा पृष्ठ अवतल होता है | अवतलावत्तल लेंस का एक पृष्ठ अवतल तथा दूसरा पृष्ठ उत्तल होता है |

लेंस की क्षमता

लेंस द्वारा प्रकाश की किरणों को अभिसरण अथवा अपसरण करने की मात्रा को लेंस की क्षमता कहते है |

लेंस द्वारा प्रकाश की किरणों को अभिसरण या अपसरण करने की मात्रा फोकस दूरी के ब्युत्क्रमानुपाती होता है।

जैसे जैसे लेंस की फोकस दूरी बढ़ती जाती है वैसे वैसे लेंस के अभिसरण या अपसरण करने की मात्रा घटती जाती है |

अत: यह कहा जा सकता है की फोकस दूरी के घटने पर लेंस के अभिसरण या अपसरण करने की क्षमता बढ़्ती जाती है | इसी प्रकार लेंस की फोकस दूरी बढने पर लेंस के अभिसरण अथवा अपसरण करने की कम होती जाती है |

लेंस की क्षमता का पी (P) के रूप में लिखा जाता है |

लैंस क्षमता का सूत्र P=1/f
जहां P= लैंस की क्षमता, f= लैंस को फोकस दूरी होता है |

लेंस की क्षमता का एस आई मात्रक डाइऑप्टर (Dioptre) होता है उसे D के रूप में दर्शाया जाता है |

1 Dioptre उस लेंस की वह क्षमता है जिसकी फोकस दूरी 1 मीटर होती है |

1D = 1m-1

लेंस का सूत्र

बिम्ब दूरी, प्रतिबिम्ब दूरी तथा फोकस दूरी के बीच में संबंध बताने वाले सूत्र को लेंस का सूत्र कहते है |

लेंस सूत्र- 1/v-1/u=1/f

u = बिम्ब की प्रकाशिक केंद्र से दूरी

v = प्रतिबिम्ब प्रकाशिक केंद्र से की दूरी

f = मुख्य फोकस की प्रकाशिक केंद्र से दूरी

लेंस का उपयोग

लेंस का मानव जीवन में उपयोग निम्नानुसार है-

  • आँखों के चश्मे बनाने में लेंस का प्रयोग किया जाता है |
  • प्रकाश की किरणों को अभिकेंद्रित करने के लिए लेंस का प्रयोग किया जाता है |
  • कैमरे में लेंस का उपयोग किया जाता है |
  • सूक्ष्मदर्शी (माइक्रोस्कोप) में |
  • दूरदर्शी में |

लेंस से संबन्धित पूछे जाने वाले प्रश्न व उत्तर

अभिसारी लेंस किसे कहते हैं?

उत्तल लेंस को अभिसारी लेंस कहते है |

अपसारी लेंस किसे कहते हैं?

अवतल लेंस को अपसारी लेंस कहते है |

निकट दृष्टि दोष में किसे लेंस का प्रयोग किया जाता है?

अवतल लेंस का |

दूर दृष्टि दोष में किस लेंस का प्रयोग किया जाता है?

उत्तल लेंस का |

अबिन्दुकता दोष में किस लेंस का उपयोग किया जाता है?

बेलनकार लेंस का |

लेंस कितने प्रकार के होते है?

लेंस दो प्रकार के होते है-
01. उत्तल लेंस
02. अवतल लेंस

उत्तल लेंस के कितने प्रकार होते है?

उत्तल लेंस के तीन प्रकार होते है –
01. उभयोत्तल लेंस
02. समतलोत्तल लेंस
03. अवतलोत्तल लेंस

लेंस की क्षमता का सूत्र क्या होता है?

लैंस क्षमता का सूत्र P=1/f
जहां P= लैंस की क्षमता, f= लैंस को फोकस दूरी होता है |
लैंस की क्षमता का SI मात्रक डाइऑप्टर होता है। इसे D द्वारा व्यक्त किया जाता है।
1 डाइऑप्टर इस लैंस की क्षमता है जिसकी फोकस दूरी 1 मीटर हो।
1D=1m−1

मनुष्य की आँख में कौनसा लेंस होता है?

उभयलिंगी लेंस |

अंतिम दो लाइन

आपने इस पोस्ट को पढ़कर लेंस के बारे में जानकारी हासिल है जहां पर लेंस किसे कहते हैं? (Lens Kise Kahate Hain) लेंस के प्रकार विस्तार से बताए गए है |

आपको यह जानकारी कैसी लगी कृपया कमेन्ट करके जरूर बताए |

Leave a Comment