पर्वत किसे कहते है? (Parvat Kise Kahate Hain)

आज हम यहाँ जानने वाले है कि पर्वत किसे कहते है? (Parvat Kise Kahate Hain) इसके साथ ही पर्वत क्या है तथा पर्वत कितने प्रकार के होते है? इत्यादि के बारे मे जारी जानकारी यहाँ पर दी गयी है |

पर्वत एवं पर्वत से संबन्धित सभी टॉपिक यहाँ पर कवर किए गए है | आप इस पोस्ट को पढ़कर पर्वत, पर्वत के प्रकार व 10 पर्वत के नाम सहित सारी जानकारी विस्तृत में जान सकते है |

यदि आप स्कूल में पढ़ाई कर रहे है तो यह पोस्ट आपके जरूर काम आने वाली है | आप अपनी किताब के साथ ही इस पोस्ट को पढ़कर पर्वतों के बारे में जान सकते है |

Parvat kise kahate hain

पर्वत किसे कहते है? (Parvat Kise Kahate Hain)

धरती पर धरातल से ऊपर उठे हुए भाग को पर्वत कहते है | जब धरती का कुछ भाग धरातल से ऊपर की और उठ कर भू आकृति में बदल जाता है | यह ऊपर उठी हुई भू-आकृति पर्वत का रूप धारण कर लेती है | जिसे हम पर्वत या पहाड़ कहते है |

पर्वत बनने की क्रिया आकस्मिक एवं प्राकृतिक तरीके से होती है | यह सब कुछ अचानक होता है और धरती का कुछ भू भाग समतल से ऊपर उठकर पर्वत का निर्माण कर लेते है |

पर्वत पर मौसम धरातल के बजाय ठंडा होता है | पर्वत (पहाड़) पर अलग-अलग प्रकार के पेड़-पौधे पाये जाते है | जैसे जैसे पर्वतों की ऊंचाई की और जाते है वैसे वैसे मौसम का तापमान कम होता जाता है |

अधिकतर पर्वत समूह में पाये जाते है | पहाड़ों से खनन का कार्य होता है तथा इसे मनोरंजन के रूप से जाना जाता है | जैसे कि पर्वतों पर चढ़ना इत्यादि | पर्वतों पर चढ़ने वाले लोगों को पर्वतारोही कहते है |

यह भी पढे- दक्षिण भारत की गंगा किसे कहते है?

पर्वतों का निर्माण कैसे होता है?

साधारण भाषा में कहे तो एक पर्वत का निर्माण मे उपस्थित चट्टानें के दूसरी चट्टानों के खिसकने की वजह से होता है | चट्टानें एक दूसरे पर खिसकने के कारण पृथ्वी की सतह थोड़ी ऊपर की और उठ जाती है और एक पर्वत का निर्माण करती है |

इसके अलावा धरती से ज्वालामुखी निकलने की वजह से भी पर्वतों का निर्माण होता है | ज्वालामुखी फटने के साथ निकालने वाला मैग्मा धीरे धीरे ठंडा होकर क्रिस्टल में बादल जाता है तथा एक पर्वत का निर्माण कर देता है |

मैं आपको नीचे पर्वतों के प्रकार भी बताने वाला हूँ | इन विभिन्न प्रकार के पर्वतों के निर्माण की विधि भी अलग-अलग होती है |

parvat ki photo

पर्वत कितने प्रकार के होते है?

आपने पर्वत किसे कहते है (parvat kise kahate hain) तो जान लिया परंतु क्या आपको पता है कि पर्वत कितने प्रकार के होते है? मैं आपको बताना चाहूँगा कि आयु के आधार पर पर्वत दो प्रकार के होते है तथा उत्पति के आधार पर पर्वत चार प्रकार के होते है | जो कि इस प्रकार है-

आयु के आधार पर पर्वत के प्रकार

  1. प्राचीन पर्वत
  2. नवीन पर्वत

उत्पति के आधार पर पर्वत के प्रकार-

उत्पति के आधार पर पर्वतों को चार भागों में बांटा गया है | यह इस प्रकार है-

  1. वलित पर्वत
  2. ब्लॉक पर्वत
  3. ज्वालामुखी पर्वत
  4. अवशिष्ट पर्वत

01. वलित पर्वत किसे कहते है? (valit Parvat kise kahate hain)

धरती में पायी जाने वाली टेक्टोनिक प्लेट्स (चट्टानें) दबाव, संपीडन, उभार इत्यादि के कारण मोड़ पड़ने की वजह से वलित होकर पर्वत का निर्माण कर लेती है | इस प्रकार बनने वाले पर्वत वलीय पर्वत कहलाते है |

वलित पर्वतों के निर्माण का मुख्य कारण धरती की आंतरिक चट्टानों का मुड़ना अथवा वलित होना होता है | वलित होने की वजह से यह चट्टानें समतल धरातल से बहुत ज्यादा ऊपर की और उठ जाती है | इन्हें वलित पर्वत कहते है | दुनिया की सबसे बड़ी वलित पर्वत का उदाहरण एंडीज पर्वत श्रृंखला है।

वलित पर्वत के उदाहरण-
  • एंडीज पर्वत श्रृंखला
  • अरावली पर्वतमाला
  • हिमालय
  • यूरोपीय आल्प्स
  • उत्तरी अमरीकी रॉकी
  • दक्षिणी अमरीकी एण्डीज

02. ब्लॉक पर्वत किसे कहते है? (Block Parvat kise kahate hain)

समतल धरातल के कुछ भाग में चट्टानों में तनाव की शक्तियों के कारण दरारे या भ्रंश (द्रोणिका, ग्राबेन) पड़ जाते है और इसके मध्य का भाग जमील में धंस जाता है और आस पास की भू आकृति समतल धरातल से काफी ऊपर उठ जाता है | इन पर्वतों को ब्लॉक पर्वत कहते है |

ब्लॉक पर्वत बनने की प्रक्रिया में जमीन में धँसे हुए भाग को रिफ्ट घाटी (भ्रंश, द्रोणिका, ग्राबेन) कहते है तथा ऊपर उठें हुए भाग उत्खण्ड (हार्स्ट) कहते है | ब्लॉक पर्वतों भ्रशोंत्थ पर्वत भी कहा जाता है |

ब्लॉक पर्वत के उदाहरण-
  • युरोप की राइन घाटी
  • वॉसजेस पर्वत हार्ज
  • साल्ट रेंज

03.ज्वालामुखी पर्वत

धरती के क्रस्ट के नीचे जब टेक्टोनिक प्लेट्स हिलती है तो कुछ ज्वालामुखी क्रियाओं की उतेजना की वजह से धरातल में एक ऐसा छिद्र हो जाता है जिसमें ज्वालामुखी विस्फोट के द्वारा लावा बाहर निकलने लग जाता है | यह लावा धीरे-धीरे संकुचित होकर एवं जमकर पर्वत का निर्माण करते है | इन्हें ज्वालामुखी पर्वत कहते है |

ज्वालमुखी पर्वत के उदाहरण-
  • वर्मा का माउंट पोपा
  • मौना लोवा
  • विसुविअस
  • किलिमंजारो और वेसुवियस, माउंट फूजी  की पर्वत।

04. अवशिष्ट पर्वत

चट्टानों के अनाच्छादन एवं अपरदन कारकों के द्वारा निर्मित होने वाले पर्वतों को अवशिष्ट पर्वत कहते है | इस पर्वतों के बनने में वाह्य कारक जैसे- नदी इत्यादि महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है |

चट्टानों के अपरदन के फलस्वरुप इन पर्वतों का निर्माण होता है अवशिष्ट पर्वत को अनाच्छादित पर्वत भी कहते हैं |

अवशिष्ट पर्वत के उदाहरण-
  • विन्ध्याचल और सतपुडा का पर्वत
  • नीलगिरी
  • पारसनाथ
  • राजमहल का पर्वत

यह भी पढे- यूजर आईडी किसे कहते है?

10 पर्वत के नाम

वैसे तो दुनिया में कई सारे पर्वत है | भारत में भी कई सारे पर्वत है परंतु यहाँ पर दुनिया के जाने-माने 10 पर्वतों की सूची बताई जा रही है जो कि इस प्रकार है-

  1. माउंट एवरेस्ट- भारत
  2. के-2 (गौडविन ऑस्टिन)
  3. कंचनजंगा
  4. धौलागिरि
  5. माउंट इलियास
  6. हिमालय- भारत
  7. बाल्कन
  8. किलिमंजारो
  9. नीलगिरी- भारत
  10. माउंट फूजी

पर्वतों का महत्व व विशेषताएँ

पर्वत एक प्राकृतिक चीज है जिनका निर्माण मनुष्य द्वारा नहीं किया जाता है | प्रकृति खुद पर्वतों का निर्माण करती है | यह पर्वत हमारे लिए बहुत लाभदायक होते हैं।

किसी भी स्थान की जलवायु को प्रभावित करने में पर्वतों का बहुत बड़ी भूमिका होती है | यह पर्वत गर्म एवं ठंडी हवाओं को रोक लेती है | मानसून की हवाओं को पर्वत रोककर बारिश करवाने में सहायक होते है |

पर्वतों को ढाल पर बड़े बड़े वन पाये जाते है | इन वनों में पशुओं के चारगाह स्थित होते है | खनिज पदार्थ व कच्चा माल भी पर्वतों की ढाल में पाये जाने वाले वनों से निकलता है |

पर्वत जलसंग्रह करने में बहित उपयोगी होते है | नदियों के पानी को रोककर जलाशयों में इकट्ठा करके पह पानी लोगों तक पहुंचाया जाता है।

पर्वतों से आपने वाले जल से सिंचाई तथा पनबिजली निर्माण में उपयोग लिया जाता है |

पर्वर्तीय इलाकों में प्रकृति की सुंदरता को देखने तथा निहारने के लिए दूर-दूर से कई सारे सैलानी आते है जिससे पर्यटन को बढ़ावा मिलता है तथा देश की अर्थव्यवस्था मजबूत होती है |

पुराने समय में दुश्मनों के आक्रमण में पर्वत एक अभेदी दीवार के रूप में काम करते थे |

पर्वतों में अलग-अलग प्रकार की वनस्पतियां तथा कई प्रकार के खनिज के भंडार भी होते हैं जिससे देश में आर्थिक संपन्नता आती है | और पढे

परीक्षा में पूछे जाने वाले महत्वपूर्व प्रश्न

पर्वत श्रंखला किसे कहते है?

बहुत सारे पर्वत जब एक दूसरे से सट होकर एक श्रंखला का निर्माण करते है और इस पर्वतों को कोई घाटी एक दूसरे से अलग करती है | इस प्रकार की श्रंखला को पर्वत श्रंखला कहते है |

पर्वत कटक किसे कहते है?

ऐसे पर्वत क्रम जो ऊंचे हो तहा सँकरे हो तो उन्हें पर्वत कटक कहते है | यह चौड़ी एवं ऊँची पहाड़ियों का एक क्रम होता है जो आकार में बहुत लंबा द ऊंचा होता है परंतु संकरा भी होता है |

पर्वत से आप क्या समझते है?

पृथ्वी से प्राकृतिक रूप से कुछ भू भाग जमीन से ऊपर उठ जाने के पश्चात बनने वाले उभार को पर्वत कहते है |

भ्रंश पर्वत किसे कहते है?

ब्लॉक पर्वतों का दूसरा नाम भ्रंश पर्वत होता है |

अंतिम दो शब्द

इस आर्टिकल में मैंने पर्वत किसे कहते है? (Parvat Kise Kahate hain) को साधारण भाषा में समझाया है और आपको समझ में भी आया होगा | पर्वत के विभिन्न प्रकारों को भी उदाहरण सहित प्रस्तुत किया गया है | इस पोस्ट को पढ़कर आप परीक्षा में आने वाले सभी प्रश्नों का उत्तर देने में सक्षम है |

Leave a Comment