सीताफल किसे कहते है? (Sitafal Kise Kahate Hain) | सीताफल खाने के फायदे

क्या आप जानते है सीताफल क्या है?

दीपावली के त्योहार पर घरों मे सीताफल का प्रयोग करते हुए आपने जरूर देखा होगा | आखिर सीताताफल किसे कहते हैं? (Sitafal Kise Kahate Hain)

चलिये जानते है इस पोस्ट में सीताफल के बारे में विस्तार से |

Sitafal Kise Kahate Hain

सीताफल किसे कहते है? (Sitafal Kise Kahate Hain)

सीताफल एक प्रकार का फल होता है जिसका वानस्पतिक नाम अन्नोना स्क्वामोसा होता है |

सीताफल का वास्तविक नाम शरीफा होता है जिसे भारत में सीताफल के नाम से जानते है | अत: शरीफा व सीताफल दोनों एक ही चीज है |

शरीफा को सीताफल इसलिए कहते है क्योंकि वनवास के दौरान श्री राम को सीता मैया ने यह फल उपहार स्वरूप प्रदान किया था तब से शरीफा को सीताफल कहा जाने लगा है | इसी कारण दिवाली के समय घरों में सीताफल यानि शरीफा का प्रयोग किया जाता है |

इसका आकार हृदय की तरह होता है जिसके ऊपरी भाग पर खुरदरे उभार होते है तथा अंदर का भाग सफ़ेद रंग का गुदगुदा, मुलायम व मीठा होता है |

यह भी पढे- स्वर्ग किसे कहते है ?

(शरीफा) सीताफल के पेड़ के उपयोगी भाग

सीताफल के पेड़ के निम्नलिखित भाग मानव जीवन के लिए उपयोगी होते है –

  • सीताफल का फल
  • सीताफल के पत्ते
  • सीताफल की छाल
  • शरीफा के बीज

सीताफल का चूर्ण व काढ़ा मार्केट में उपलब्ध होता है जिसका सेवन चिकित्सक की देखरेख में किया जा सकता है |

सीताफल की फोटो

Sitafal ki photo

सीताफल के अन्य नाम

सीताफल को निम्नलिखित नामों से भी जाना जाता है –

  • शरीफा
  • कस्टर्ड एपल
  • कठेर
  • बुल्स हार्ट
  • गात्र
  • कृष्णबीज
  • जानकी फल
  • शुगर एपल

सीताफल खाने के फायदे

सीताफल (शरीफा) में केल्शियम और फाइबर की मात्रा बहुत अधिक होती है जो आर्थराइटिस और कब्ज जैसी हेल्थ प्रॉब्लम से बचाने में मदद करता है।

सीताफल में विटामिन सी अधिकता में पायी जाती है जिसके कारण रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है | फलस्वरूप रोगो से लड़ने की क्षमता का विकास होता है |

सीताफल स्वाद में मीठा फल होता है | अत: इसे शुगर के मरीज को बिलकुल नहीं खाना चाहिए |

सीताफल के पेड़ की छाल में टैनिन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जिसका उपयोग कई प्रकार की दवाइयां बनाने में किया जाता है |

शरीर का वजन बढ़ाने में सीताफल बहुत फ़ायदेमंद होता है | इसके ज्यादा उपयोग से मोटापा बढ़ता है |

सीताफल के पेड़ के पत्तों से कैंसर और ट्यूमर जैसी बीमारियों का इलाज किया जाता है।

सीताफल की तासीर ठड़ी होती है | सर्दी में इसके सेवन से सर्दी जुखाम होने की संभावना अधिक रहती है |

पुराने जमाने में लोग सीताफल के बीजों को पीसकर सर की जुएं मारने में प्रयोग में लेते थे |

दस्त की रोकथाम में सीताफल खाना फ़ायदेमंद होता है |

सीताफल के बीज प्राकृतिक रूप से एंटीऑक्सीडेंट का काम करते है |

यह भी पढे- रोली मोली किसे कहते है ?

सीताफल से संबन्धित प्रश्न व उत्तर

सीताफल को सीताफल क्यों कहते है?

वनवास के दौरान भगवान राम को सीता मां ने यह फल उपहार स्वरूप प्रदान किया था इसलिए सीताफल को सीताफल कहते है |

सीताफल का दुसरा नाम क्या है?

सीताफल का दूसरा नाम शरीफा होता है |

क्या कद्दू को भी सीताफल कहते है?

नहीं |

सीताफल के बीज खाने से क्या होता है?

सीताफल के बीज का तेल निकालकर बालों में लगाना बहुत फायदेमंद होता है जिसके कारण बालों की ग्रोथ अधिक होती है और बालों के झड़ने, जुओं से छुठकारा मिलता हैं।

अंतिम दो लाइन

आज आपने इस पोस्ट में सीताफल किसे कहते है? (Sitafal Kise Kahate Hain), सीताफल खाने के फ़ायदे व नुकसान आदि के बारे में जानकारी हासिल की है |

आपको यह जानकारी कैसी लगी कमेन्ट करके जरूर बताए |

Leave a Comment