व्यंजन किसे कहते हैं? (Vyanjan Kise Kahate Hain) व्यंजन के भेद

क्या आप व्यंजन के बारे में जानते हो?

यदि नहीं तो आज इस में व्यंजन किसे कहते हैं? (Vyanjan Kise Kahate Hain), के बारे में विस्तार से बताया गया है |

हिन्दी भाषा को जानने व समझने के लिए स्वर व व्यंजन दोनों का ज्ञान होता आवश्यक होता है | आज इस पोस्ट में व्यंजन की परिभाषा, भेद, उदाहरण, तथा हिंदी में व्यंजन कौन कौन से होते है, आदि के बारे में विस्तार से समझाया गया है |

Vyanjan Kise Kahate Hain

व्यंजन किसे कहते हैं? (Vyanjan Kise Kahate Hain)

हिन्दी की वर्णमाला के ऐसे वर्ण जिन्हें बोलने के लिए किसी अन्य स्वर या वर्ण की आवश्यकता होती है उन्हें व्यंजन कहते है |

हिन्दी वर्णमाला में कुल 52 वर्ण होते है जिसमें से क से ज्ञ तक कुल 33 वर्ण होते है | यह 33 वर्ण व्यंजन कहलाते है |

चार संयुक्त व्यंजन (क्ष, त्र, ज्ञ, श्र) व दो द्विगुण व्यंजन (ड़ और ढ) को मिलाकर हिंदी में कुल 39 व्यंजन होते है | इन व्यंजनों की सहायता से शब्दों का निर्माण होता है |

व्यंजन की परिभाषा- वे वर्ण जिनका उच्चारण करने के लिए स्वर की जरूरत पड़ती है, बिना स्वर के इन वर्णों का उच्चारण संभव नहीं है, व्यंजन कहलाते है |

यह भी पढे- तुकांत शब्द किसे कहते हैं?

व्यंजन के उदाहरण

  • क, ख, ग, घ, ङ
  • च, छ, ज, झ, ञ
  • ट, ठ, ड, ढ़, ण
  • त, थ, द, ध, न
  • प, फ, ब, भ, म
  • य, र, ल, व,
  • श, ष, स, ह
  • क्ष, त्र, ज्ञ, श्र
  • ड़, ढ

व्यंजन के भेद (प्रकार)

हिन्दी भाषा में श्वास के कंपन, श्वास की मात्रा व श्वास के अवरोध के आधार पर व्यंजन को अलग-अलग भेद होते है जो कि निम्नानुसार है –

श्वास के अवरोध के आधार पर व्यंजन चार प्रकार के होते है-

  1. स्पर्शी व्यंजन
  2. अंतस्थ व्यंजन
  3. ऊष्म व्यंजन (संघर्षी व्यंजन)
  4. संयुक्त व्यंजन

श्वास के कंपन के आधार पर व्यंजन दो प्रकार के होते है –

  1. अघोष व्यंजन
  2. सघोष व्यंजन

श्वास की मात्रा के आधार पर व्यंजन दो प्रकार के होते है –

  1. अल्पप्राण व्यंजन
  2. महाप्राण व्यंजन

अब व्यंजन के प्रत्येक भेद को विस्तार से जानने की कोशिश करते है |

यह भी पढे- औपचारिक पत्र किसे कहते हैं?

स्पर्शी व्यंजन किसे कहते है?

वें व्यंजन जिनका उच्चारण करते समय हमारी जीभ कंठ, मूर्धा, तालु, दांत, होठ आदि को स्पर्श करती है उन्हें स्पर्शी व्यंजन कहते है |

स्पर्शी व्यंजन कुल 25 होते है |

  • कंठ वर्ण — क, ख, ग, घ, ङ।
  • तालव्य वर्ण — च, छ, ज, झ, ञ।
  • मूर्धा वर्ण — ट, ठ, ड, ढ, ण।
  • दंतय वर्ण — त, थ, द, ध, न।
  • ओष्ठम वर्ण — प, फ, ब, भ, म।

संयुक्त व्यंजन किसे कहते है?

दो वर्णों से मिलकर बने हुए व्यंजन को संयुक्त व्यंजन कहते है |

संयुक्त व्यंजन 4 होते है |

  • क्ष (क्+ष)
  • त्र (त्+र)
  • ज्ञ (ज्+ञ)
  • श्र (श्+र)

अंतस्थ व्यंजन किसे कहते हैं?

जिन व्यंजन को बोलते समय जीभ किसी भी भाग को स्पर्श नहीं करती है, उन्हें अंतस्थ व्यंजन कहते है |

अंतस्थ व्यंजन 4 होते है |

ऊष्म व्यंजन किसे कहते हैं?

वे व्यंजन जिन्हें बोलते समय घर्षण के कारण ऊष्मा उत्पन्न होती है उन्हें ऊष्म व्यंजन कहते है |

ऊष्म व्यंजन 4 होते है |

  • श- तालव्य
  • ष- मूर्धन्य
  • स- वत्सर्य
  • ह- स्वरयंत्रीय

द्विगुण व्यंजन किसे कहते हैं?

वे व्यंजन जिनके द्वारा कोई शब्द शुरू नहीं होता है तथा जिनका प्रयोग शब्द के अंत में होता है उन्हें द्विगुण व्यंजन कहते है |

द्विगुण व्यंजन दो होते है |

  • ड़
  • ढ़

सघोष व्यंजन किसे कहते है?

जिन व्यंजन का उच्चारण करते समय स्वर तंत्रियों मे कंपन अधिक होता है उन्हें सघोष व्यंजन कहते है |

सघोष व्यंजन 20 होते है |

  • ग, घ, ङ
  • ज, झ, ञ
  • ड, ढ, ण
  • द, ध, न
  • ब, भ, म
  • य, र, ल, व, ह

अघोष व्यंजन किसे कहते हैं?

वे व्यंजन जिसके उच्चारण के समय स्वर तंत्र में कंपन कम होता है उन्हें अघोष व्यंजन कहते है |

अघोष व्यंजन 13 होते है |

  • क, ख
  • च, छ
  • ट, ठ
  • त, थ
  • प, फ
  • श, ष, स

अल्पप्राण व्यंजन किसे कहते हैं?

वे व्यंजन जिन्हें बोलते समयन मुँह से कम वायु बाहर निकलती है उन्हें अल्पप्राण व्यंजन कहते है |

अल्पप्राण व्यंजनों की कुल संख्या 20 होती है |

  • क, ग, ङ,
  • च, ज, ञ,
  • ट, ड, ण,
  • त, द, न,
  • प, ब, म,
  • य, र, ल, व
  • ड़,

महाप्राण व्यंजन किसे कहते हैं?

वे व्यंजन जिन्हें बोलते समय मुँह से ज्यादा वायु बाहर निकलती है उन्हें महाप्राण व्यंजन कहते है |

महाप्राण व्यंजनों की कुल संख्या 15 होती है |

  • ख, घ,
  • छ, झ,
  • ठ, ढ,
  • थ, ध,
  • फ, भ,
  • श, ष, स, ह
  • ढ़

यह भी पढे- मानक भाषा किसे कहते हैं?

व्यंजन से संबन्धित प्रश्न व उत्तर

व्यंजन क्या है हिन्दी में परिभाषा लिखिए?

वे वर्ण जिनका उच्चारण करने के लिए स्वर की जरूरत पड़ती है, बिना स्वर के इन वर्णों का उच्चारण संभव नहीं है, व्यंजन कहलाते है |

व्यंजन कितने होते है?

व्यंजन 39 होते है |

हिन्दी में व्यंजन कौन कौन से है?

क, ख, ग, घ, ङ
च, छ, ज, झ, ञ
ट, ठ, ड, ढ़, ण
त, थ, द, ध, न
प, फ, ब, भ, म
य, र, ल, व,
श, ष, स, ह
क्ष, त्र, ज्ञ, श्र
ड़, ढ

स्पर्श व्यंजन कितने है?

स्पर्श व्यंजन 25 होते है |

अंतिम दो लाइन

आपने आज इस पोस्ट में व्यंजन किसे कहते हैं? (Vyanjan Kise Kahate Hain) के बारे में विस्तार से जानकारी हासिल की है |

इसके साथ ही व्यंजन के भेद तथा प्रत्येक भेद का अलग से विस्तार से वर्णन किया गया है |

आपको यह पोस्ट कैसी लगी कमेन्ट करके जरूर बताए |

Leave a Comment